ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• 3 साल बाद भी बरक़रार है मोदी लहर, अगर अभी हुआ आम चुनाव तो NDA को मिलेगी इतनी सीटें।
• बेटे ने अपनी मां के साथ की ऐसी शर्मनाक हरकत, जानकर रोंगटें खड़े हो जायेंगे।
• सनी लियॉन ने शेयर की ऐसी तस्वीरें, देखकर बड़े-बड़े नेताओं के उड़ जायेंगे होश।
• सैफ की पहली शादी में पहुंची थी करीना, बधाई देते हुए कही थी ये बात !
• नितीश ने सरेआम “बाहुबली” के आगे जोड़े हाथ, बिहार में मचा बबाल।
• सानिया मिर्जा ने पाक के मुंह पर जड़ा तमाचा, लोग बोले-शोएब कब इसको तलाक दोगे !
• बेटी पैदा होते ही मां ने की ये शर्मनाक हरकत, जानकर होश उड़ जायेंगे।
• इस Allrounder क्रिकेटर को टीचर से था प्यार, लेकिन अब उसकी बहन ही है उसके 4 बच्चों की माँ।
• सड़क से गुजर रहे राहगीर को झाड़ियों में सुनाई दी अजीब आवाज, देखा तो रह गया दंग।
• गोरखपुर हादसे के खलनायक कफील खान का सामने आया एक और सच्चाई।
• नमाज और जन्माष्टमी को लेकर CM योगी ने दिया बड़ा बयान, कहा -अगर मैं सड़क पर नमाज….
• टीवी की इस मशहूर एक्ट्रेस ने PM मोदी से की अपील, कहा -बेटी पैदा करने से अब डर लगता है…..
• केंद्र सरकार ने बंद किये 81 लाख आधार नंबर, आपका है या नहीं, ऐसे करें चेक।
• पीएम मोदी ने बिहार के लोगों को दिया जबर्दस्त तोहफा, खुशी से झूमे लोग।
• मेहंदी ने दिखाया अपना असली रंग, बच्ची के पूरे हाथ का कर दिया ये हाल।

जाते-जाते ओबामा ने किया धमाका…. भारत का बढ़ाया रुतबा…. PAK के पर कतरे।

जाते-जाते बराक बराक ओबामा ने ऐसा काम कर दिया हैं जिससे भारत बहुत खुश हैं जबकि पाकिस्तान के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई हैं।

नई दिल्ली, 25 दिसंबर :अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अब बस कुछ ही दिनों के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति हैं। नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बहुत जल्द व्हाइट हाउस आने वाले हैं। ओबामा जाते-जाते कुछ ऐसे फैसले कर रहे हैं जिसका असर एशियाई देशों पर हो सकता हैं। पीएम मोदी और बराक ओबामा के दोस्ती को सभी जानते हैं लेकिन, पाकिस्तान को लेकर ओबामा प्रशासन का रुख काफी सख्त रहा हैं। जाते-जाते ओबामा ने साल 2017 के 618 अरब डॉलर के रक्षा बजट पर दस्तखत कर दिए हैं। अमेरिकी रक्षा बजट में जहां भारत के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया गया है, वहीं पाक को दी जाने वाली अमेरिकी मदद के लिए कड़ी शर्तें रखी गई हैं।

Advertisement

रक्षा बजट पर ओबामा के हस्ताक्षर करने के बाद अब ये कानून बन गया हैं। बजट में अमेरिकी रक्षा मंत्री व विदेश मंत्री से भारत को अमेरिका के ‘प्रमुख रक्षा भागीदार’ के रूप में पहचान के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा गया है। जानकारों के मुताबिक, इससे अमेरिका और भारत के बीच ‘सुरक्षा सहयोग’ बढ़ेगा। दोनों देशों की एजेंसियों के बीच बेहतर कॉर्डिनेशन के जरिए अमेरिका-भारत रक्षा संबंधों को मजबूत करने, रक्षा क्षेत्र से जुड़े अधिग्रहण और तकनीक को मजबूत और सुनिश्चित करने के लिए अलग से किसी शीर्ष अधिकारी को नियुक्त किया जाए। इससे दोनों देशों के बीच लंबित मसलों को हल करने, सुरक्षा सहयोग बढ़ाने और साझा-उत्पादन के मौके बढ़ाने में मदद मिलेगी।

बजट के मुताबिक पाकिस्तान को अमेरिका की तरफ से मिलने वाली वित्तीय मदद के लिए अब कड़ी शर्तें लगा दी गई हैं। पाक को मदद तभी मिलेगी जब वह हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ कड़े कदम उठायेगा। बता दें, कोअलिशन सपोर्ट फंड (CSF) के तहत पाकिस्तान को अमेरिका से 90 करोड़ अमेरिकी डॉलर की मदद मिलनी है। इनमें से 40 करोड़ डॉलर की मदद पाने के लिए पाकिस्तान पर 4 शर्तों को पूरा करना होगा। अमेरिकी रक्षा मंत्री को कांग्रेस में इसे प्रमाणित करना होगा कि पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क की गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए सैन्य कार्रवाई कर रहा है और इस्लामाबाद हक्कानी नेटवर्क को अपनी जमीन का इस्तेमाल करने से रोकने के वादे को निभाते हुए कदम उठाए हैं।

इस साल की शुरुआत में अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने पाकिस्तान को यह मदद देने से रोक दिया था। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहा हैं। अगले महीने ह्वाइट हाउस से विदा होने वाले ओबामा अभी परिवार के साथ हवाई में छुट्टियां मना रहे हैं। वहीं शुक्रवार को उन्होंने राष्ट्रीय रक्षा अधिकरण कानून -2017 पर दस्तखत किए। ओबामा के जाने के बाद डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के नये राष्ट्रपति बनेंगे। पाक को लेकर ट्रंप का रवैया भी नरम नहीं हैं। ट्रंप पाकिस्तान को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाला देश घोषित कर चुके हैं।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles