ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• अमिताभ बच्चन की बेटी के बारे में सामने आई ऐसी सच्चाई, सुनकर होश उड़ जायेंगे आपके।
• दीपिका पादुकोण ने किया खुलासा, 55 साल के इस शख्स के साथ करना चाहती है शादी।
• CM योगी ने 10 साल पहले इस लड़की के सिर पर रखा था हाथ, आज तक निभा रहे हैं साथ।
• गुपचुप तरीके ने जहीर खान ने इस बॉलीवुड एक्ट्रेस से रचाई शादी, तो रोहित शर्मा ने कही ये बात।
• USA में जॉब छोड़ गाँव में बकरियां पाल रहा है ये साइंटिस्ट, कमा रहा है लाखों।
• गुजरात चुनाव में PM मोदी ने चल दिया सबसे बड़ा दांव, दंग रह गई कांग्रेस पार्टी।
• गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थी कुछ ऐसी।
• धोनी ने किया खुलासा, 2007 में इसलिए बनाया गया था टीम इंडिया का कप्तान।
• शादी की पहली रात दूल्हे ने होटल में पत्नी के साथ किया ऐसा काम, वह हो गई बेहोश।
• 6 साल के लव अफेयर का ऐसे हुआ अंत, BF ने लड़की से रखी थी ऐसी डिमांड।
• इस महिला IAS ने छीन ली मंत्री की कुर्सी, किया ऐसा खुलासा कि हिल गई पूरी सरकार।
• जवानी में सफेद हो रहे हैं बाल तो आजमाइए सिर्फ 1 नुस्खा, तेजी से होंगे काले।
• ये हैं रानी पद्मावती के असली वंशज, जीते हैं महाराजा जैसी लाइफ।
• 6 साल की हुई देश की पहली बेबी सेलिब्रिटी, अमिताभ ने ऐसे किया पोती को बर्थ डे विश।
• भगवा गमछे में CM योगी से मिलने पहुंचा बसपा का ये बाहुबली, मची खलबली।

यहां बादलों के ऊपर से गुजरते हुए चलती है ट्रेन, ये है ‘ट्रेन टू द क्लाउड’।

समुद्र तल से 4,000 मीटर की ऊंचाई पर एंडीज पर्वत श्रृंखला से एक ऐसी ट्रेन गुजरती है जिसे ‘ट्रेन टू द क्लाउड’ कहा जाता है।

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर :दुनिया में एक ऐसी ट्रेन भी है जो बादलों के बीच चलती है। आपको इस बात पर यकीन नहीं हो रहा होगा लेकिन, ये सच है। दरअसल, ये ट्रेन इतनी ऊंचाई पर चलती है कि इसके बाहर बादल नजर आते हैं। इस ट्रेन में लोग सफर भी करते हैं। अर्जेंटीना में समुद्र तल से 4,000 मीटर की ऊंचाई पर एंडीज पर्वत श्रृंखला से एक ऐसी ट्रेन गुजरती है जिसे ‘ट्रेन टू द क्लाउड’ कहा जाता है।

Advertisement

यह रेल लाइन दुनिया के सबसे ऊंचे रेल रूटों में से एक है। यह ट्रेन जब कुछ खास इलाकों से गुजरती है तो ऐसा मालूम पड़ता है कि यह बादलों को चीर कर आगे बढ़ रही है। असल में तब रेलवे लाइन के दोनों तरफ भारी बादल होते हैं। इस रेलवे ट्रैक की शुरुआत अर्जेंटीना के सिटी साल्टा से होती है। इसकी समुद्र तल से ऊंचाई 1,187 मीटर है।

यह रेलमार्ग वैली डी लेर्मा से गुजरते हुए क्वेब्रेडा डेल टोरो से ला पोल्वोरिला वियाडक्ट (4200 मीटर) पर खत्म होता है। यह ट्रेन 15 घंटे के सफर में 434 किमी. की दूरी तय करती है जिसमे 3 हजार मीटर की चढ़ाई भी शामिल है। अपने खूबसूरत सफर में यह ट्रेन 29 पुलों और 21 टनल को पार करती है। इस पूरे सफर में यात्रा कर रहे लोगों को कई खूबसूरत दृश्य देखने को मिलते हैं।

यही वजह है कि इस ट्रेन में सफर करने के लिए दूर-दूर से लोग यहां आते हैं। इस रेलवे ट्रैक का निर्माण 1920 में हुआ था जिसके प्रोजेक्ट हेड अमेरिकन इंजीनियर रिचर्ड फोन्टेन मरे थे। यह ट्रेन हर शनिवार साल्टा से सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर खुलती है और मध्य रात्रि में लौटकर वापस आती है। ये ट्रेन अर्जेंटीना के लोकल लोगों के काफी काम आती है वे काफी कम दामों में इस यूज ट्रांसपोर्ट के रूप में करते हैं।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles