ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• अमिताभ बच्चन की बेटी के बारे में सामने आई ऐसी सच्चाई, सुनकर होश उड़ जायेंगे आपके।
• दीपिका पादुकोण ने किया खुलासा, 55 साल के इस शख्स के साथ करना चाहती है शादी।
• CM योगी ने 10 साल पहले इस लड़की के सिर पर रखा था हाथ, आज तक निभा रहे हैं साथ।
• गुपचुप तरीके ने जहीर खान ने इस बॉलीवुड एक्ट्रेस से रचाई शादी, तो रोहित शर्मा ने कही ये बात।
• USA में जॉब छोड़ गाँव में बकरियां पाल रहा है ये साइंटिस्ट, कमा रहा है लाखों।
• गुजरात चुनाव में PM मोदी ने चल दिया सबसे बड़ा दांव, दंग रह गई कांग्रेस पार्टी।
• गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थी कुछ ऐसी।
• धोनी ने किया खुलासा, 2007 में इसलिए बनाया गया था टीम इंडिया का कप्तान।
• शादी की पहली रात दूल्हे ने होटल में पत्नी के साथ किया ऐसा काम, वह हो गई बेहोश।
• 6 साल के लव अफेयर का ऐसे हुआ अंत, BF ने लड़की से रखी थी ऐसी डिमांड।
• इस महिला IAS ने छीन ली मंत्री की कुर्सी, किया ऐसा खुलासा कि हिल गई पूरी सरकार।
• जवानी में सफेद हो रहे हैं बाल तो आजमाइए सिर्फ 1 नुस्खा, तेजी से होंगे काले।
• ये हैं रानी पद्मावती के असली वंशज, जीते हैं महाराजा जैसी लाइफ।
• 6 साल की हुई देश की पहली बेबी सेलिब्रिटी, अमिताभ ने ऐसे किया पोती को बर्थ डे विश।
• भगवा गमछे में CM योगी से मिलने पहुंचा बसपा का ये बाहुबली, मची खलबली।

धोनी ने किया खुलासा, 2007 में इसलिए बनाया गया था टीम इंडिया का कप्तान।

महेंद्र सिंह धोनी ने इस बात का खुलासा किया है कि साल 2007 में उन्हें टीम इंडिया का कप्तान क्यों बनाया गया था। 

नई दिल्ली, 17 नवंबर :टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इस बात का खुलासा किया है कि साल 2007 में उन्हें टीम इंडिया का कप्तान क्यों बनाया गया था। धोनी ने कहा कि इसके लिए सीनियर खिलाड़ियों ने उनका साथ दिया था, इसके अलावा क्रिकेट को लेकर उनकी जानकारी और उनका स्वभाव इसमें काफी मददगार रहा। गौरतलब है 2007 में युवराज सिंह, हरभजन सिंह और सहवाग जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद धोनी को टीम का कप्तान बनाया गया और उनकी कप्तानी में टीम ने 2007 का टी-20 वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया था।

Advertisement

उस प्रतियोगिता में धोनी की कप्तानी की काफी तारीफ हुई थी और उसके बाद से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। धोनी से जब पूछा कि 10 साल पहले उन्हें टीम की कप्तानी कैसे मिली थी तो उन्होंने कहा ‘एक बार फिर से ये काफी मुश्किल सवाल है, क्योंकि उस समय काफी सारे सीनियर खिलाड़ियों ने मेरा साथ दिया था। जब मुझे टीम का कप्तान बनाया गया तो उस मीटिंग का मैं हिस्सा भी नहीं था। मुझे लगता है कि मेरी ईमानदारी और खेल के प्रति मेरी जानकारी को लेकर मुझे टीम की कप्तानी मिली।

धोनी ने आगे कहा कि गेम को पढ़ना काफी अहम होता है। हालांकि उस समय टीम में मैं एक युवा खिलाड़ी था और जब एक सीनियर खिलाड़ी ने मेरी राय पूछी तो मैंने खुलकर अपनी राय दी। शायद ये भी कारण रहा कि टीम के बाकी खिलाड़ियों के साथ मेरे अच्छे संबंध थे। आपको बता दें, साल 2007 के विश्व कप में राहुल द्रविड़ की कप्तानी वाली भारतीय टीम पहले ही दौर से बाहर हो गई थी।

इसके बाद पहले टी-20 विश्व कप के लिए राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर और गांगुली ने खुद को कप्तानी की रेस से हटा लिया। फिर 26 वर्षीय धोनी को कप्तानी का जिम्मा सौंपा गया और वो टीम मैनेजमेंट की उम्मीदों पर एकदम खरा उतरे। धोनी ने अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को आईसीसी के तीनों खिताब दिलाए।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles