ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• राम रहीम के साथ एक बेड पर सोती थी हनीप्रीत, सहेली ने किये और भी कई खुलासे।
• 70 सालों से बंद था इस घर का दरवाजा, खुलते ही खुली परिवार की किस्मत।
• मां ने बेटे से कहा -तुम बड़े हो गए हो मेरे पति की कमी पूरी करो और फिर हुआ ये।
• पिता के इलाज के लिए बच्ची ने PM मोदी को लिखा लेटर, तो CM योगी ने दिया ये जवाब।
• JDU राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाये गये नीतीश कुमार, लालू के साथ फिर होगा JDU का महागठबंधन।
• शाहरुख़ या सलमान नहीं बल्कि इस बॉलीवुड एक्टर को डेट करना चाहती है ये दिग्गज खिलाड़ी।
• 16 साल के लड़के पर आया मैडम का दिल, राज खुला तो उठाया ये बड़ा कदम।
• पाकिस्तानी पुलिसवाले ने कोहली को किया शादी के लिए प्रपोज, लोगों ने लगा दी क्लास।
• पीएम मोदी ने आडवाणी को क्यों दी सजा, इस बड़े नेता ने किया चौंकाने वाला खुलासा।
• सलमान नहीं बल्कि इस शख्स के लिए पागल थी ऐश्वर्या, नाम जान होश उड़ जाएंगे।
• ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में पांड्या ने की धुलाई तो धोनी ने रच दिया इतिहास।
• जिन स्त्रियों के शरीर के ये अंग बड़े होते है, वो मर्दो के लिए होती है भाग्यवान।
• रेलवे ने बनाया ऐसा नियम… जानकर आपकी नींद उड़ जायेगी।
• नहीं रहे 1965 के जंग के ये जांबाज योद्धा, पीएम मोदी ने ये बात कह दी श्रद्धांजलि।
• बहन की इन हरकतों से परेशान था भाई, प्रेग्नेंट पत्नी संग उठाया ये खौफनाक कदम।

पिता चाहते थे लड़की से करूं शादी, पर मुझे चाहिए था लड़का’- फिर हुआ ये।

कुछ लड़कों में लड़की बनने की चाहत होती है तो वहीं, किसी लड़की को लड़का बनने की चाहत होती है लेकिन आज के दौर में ये संभव है। 

नई दिल्ली, 11 सितंबर :अक्सर देखा गया है कि कुछ लड़कों में लड़कियां बनने की चाहत होती है, तो किसी लड़की को लड़का बनने की चाहत होती है। यह हार्मोन के हेर-फेर की वजह से भी हो सकता है। लेकिन, आज के दौर में ये संभव हो गया है कि अगर आप भी लड़की बनना चाहते हैं तो आसानी से बन सकते हैं। वैसे तो अभी तक कई ट्रांसजेंडर लोगों के बारे में सुना होगा जिन्होंने ट्रांसप्लांट कराया है।

Advertisement

इन्हीं में से एक है कोलकाता की रहने वाली 26 वर्षीय नीताषा बिस्वास। आपको बता दें, नीताषा इंडिया की पहली मिस ट्रांसजेंडर क्वीन बन चुकी है। नीताषा ने मार्च 2018 में थाईलैंड में होने वाले मिस इंटरनेशनल ट्रांसक्वीन में भारत को रिप्रजेंट करेंगी। हालांकि उन्होंने अपनी जिंदगी में आई हर एक रूकावट और परेशानियों का डटकर सामना किया। जब वो बड़ी होने लगी तो उन्हें ये अहसास हुआ कि उनके शरीर के अंदर एक महिला छुपी हुई है।

इसलिए उन्होंने हार्मोन्स रिप्लेसमेंट थेरेपी लेना शुरू कर दिया। इस तरह आदमी से औरत बनने में उन्हें 3 से 4 साल तक का समय लगा। उन्होंने बताया कि आप शरीर से क्या है और आत्मा से क्या, इसका ज्ञान काफी मुश्किल है। उन्होंने बताया कि उनका शरीर एक आदमी का था लेकिन, उनकी आत्मा शुरू से एक महिला वाली थी। बचपन में जब उनके सारे दोस्त बाहर खेलने जाते थे तो वो घर में बैठकर टीवी देखती थी।

पहले उन्हें लगता था कि ये उनका पागलपन है लेकिन, लेकिन दसवीं तक पहुंचने तक, नीताषा जान चुकी थी कि वो असल में क्या हैं? इसके बाद नीताषा दिल्ली गयी। जहां उन्होंने अपनी ट्रांजीशन करने की शुरुआत की। नीताषा ने बताया कि जब उन्होंने ट्रांजीशन कराने का फैसला लिया तो उनके इस फैसले का काफी विरोध किया गया। उनके ज्यादातर दोस्त उनका साथ छोड़ने लगे। कईयों ने तो उनसे बात तक करनी बंद कर दी।

ऐसे में उनके पापा ने समझाते हुए कहा कि तुम्हारे लिए एक बंगाली लड़की ढूंढकर शादी करवा देता हूं लेकिन, नीताषा बोली कि मुझे एक लड़का चाहिए। इस तरह इतनी मुश्किलें और रुकावटों को सहने के बाद आज नीताषा भारत की पहली ट्रांस क्वीन बनकर बाकी ट्रांसजेंडरको प्रेरणा दे रही हैं।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles