ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• दौड़ के बाद हुई छात्र की मौत, अंतिम संस्कार के दौरान खुली आंख तो हुआ ये सब।
• पति नहीं करता था टच, पत्नी ने सुसाइड नोट में लिखी ये रुला देने वाली बात।
• लगातार हो रही आलोचना पर धोनी ने तोड़ी चुप्पी, विरोधियों को दिया ये करारा जवाब।
• इस IPS ने काटा था धोनी का चालान, अब इस काम के लिए मिलेगा पुरस्कार।
• मध्य प्रदेश में भाजपा को लगा तगड़ा झटका, चित्रकूट विधानसभा सीट पर कांग्रेस का कब्जा।
• यहां लगा था वो शीशा, जहां से अलाउद्दीन खिलजी ने पद्मावती को देखा था।
• गोरा होने के लिए चेहरे पर कभी न लगाएं नींबू और ये 5 चीजें, बढ़ेगा सांवलापन।
• पिता की ख़ुशी की लिए बेटियों ने सड़क पर खुलेआम किया ये काम, लोग बोले …!
• राहुल गांधी ने छीन ली PM मोदी की सबसे बड़ी ताकत, गुजरात में अब कांग्रेस की जीत पक्की।
• ग्रेट खली ने किया खुलासा, इस एक वजह से अब नहीं जाते हैं WWE में लड़ने।
• चुनाव से पहले ही हार गई भाजपा, इस सबसे बड़ी सीट पर हुआ कांग्रेस का कब्जा।
• जानिये, आखिर क्यों किन्नरों के घर पर या उनके हाथों से बना खाना कर देना चाहिए नजरअंदाज।
• 70 साल के इस बुजुर्ग ने यंग लड़की से की शादी, जानिये क्या है पूरी सच्चाई।
• शादी से मुकर गए लड़के वाले तो घर पहुंच गई लड़की, कहा -शादी तो इसी से करुँगी।
• रिलायंस Jio के 399 के रिचार्ज पर रिटर्न होने 300 रूपये, बस फॉलो करने ये स्टेप।

3 तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब सरकार का ये बड़ा एलान, मुस्लिम महिलाओं की हो गयी चाँदी।

सुप्रीम कोर्ट

मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर मुहर लगाते हुए ये एलान कर दिया, जिससे देश की तमाम मुस्लिम महिलाओं के चेहरे पर ख़ुशी छा गयी। 

नई दिल्ली (ब्यूरो) : सदियों से चला आ रहा 3 तलाक मुस्लिम समाज के महिलाओं के लिए अभिशाप से कम नहीं था। मुस्लिम समाज का 3 तलाक एक ऐसा रिवाज है जो आज के समय में दुनिया के किसी भी समाज में नहीं है चाहे वो किसी धर्म को मानते है। देखा जाय तो समय के अनुसार और आधुनिक मुखरता की और बढ़ते हुए विश्व के सभी समाज अपने रीती-रिवाजों में व्याप्त कुरितियों को मिटाते है और समय के साथ आगे बढ़ते है। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक नामक कुप्रथा पर ऐतिहासिक हस्तक्षेफ करते हुए ये फैसला सुनाया और इस प्रथा को अमान्य अवैध बताया।

Advertisement

इधर जैसे ही कल सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक मुद्दे पर अपना फैसला सुनाया उसके बाद देश के तमाम हलकों में हलचल मच गयी और तमाम तरह के लोग इस मुद्दे पर अपनी राय जाहिर करने लगे। कई लोगों ने तो सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत किया है और कई ने परोक्ष रूप से इस पर अपनी नाराजगी जताई है। इसी क्रम में मोदी सरकार के तरफ से भी तीन तलाक के मुद्दे पर सकारात्मक संकेत आये है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘‘सरकार इस मुद्दे पर संरचनात्मक एवं व्यवस्थित तरीके से विचार करेगी। प्रथम दृष्टया इस फैसले को पढ़ने से स्पष्ट होता है कि (पांच सदस्यीय पीठ में) बहुमत ने इसे असंवैधानिक और अवैध बताया है।’

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस फैसले को उन लोगों के लिए बड़ी जीत करार दिया जिनका मानना है कि पर्सनल कानून प्रगतिशील होने चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि फैसला अब देश का कानून है। जेटली ने यह भी कहा कि इस्लामी दुनिया के कई हिस्सों में तीन तलाक की प्रथा को खारिज कर दिया गया है।सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगर कोई पति एक बार में तीन तलाक बोलता है, तो अब विवाह समाप्त नहीं होगा।

वहीँ अल्पसंखयक कार्य राजयमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा की मुस्लिम समाज को दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने के लिए ये बदलाब बहुत जरुरी था और देश में इसके पहले भी बाल विवाह, सती प्रथा जैसी सामाजिक कुरीतियों को अवैध घोषित कर दिया गया है।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles