ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• पति नहीं बल्कि जीजा के प्यार में दीवानी थी पत्नी, फिर एक दिन अचानक हुआ ये…
• नवरात्र में पहने इन 9 रंगों के कपड़े, मनोकामना होगी पूर्ण, घर में आएगी सुख-संपति।
• 3 महीने की प्रेग्नेंट निकली 8वीं की छात्रा, भाजपा के इस नेता पर लगाया रेप का आरोप।
• पत्नी को दोस्तों संग सोने को कहता था ये शख्स, यूपी के इस मंत्री का भी आया नाम।
• इन 6 बैंकों में है आपका खाता तो 30 सितंबर से पहले कर लें ये काम, वर्ना हो जाएगा नुकसान।
• हामिद अंसारी की पत्नी सलमा ने दिया ये चौंकाने वाला बयान, लोगों ने लगा दी क्लास।
• जब पहले वनडे के बाद पूरी टीम कुछ ऐसे कर रही थी एयरपोर्ट पर आराम, धोनी कर बैठे ऐसी हरकत।
• राम रहीम के साथ एक बेड पर सोती थी हनीप्रीत, सहेली ने किये और भी कई खुलासे।
• 70 सालों से बंद था इस घर का दरवाजा, खुलते ही खुली परिवार की किस्मत।
• मां ने बेटे से कहा -तुम बड़े हो गए हो मेरे पति की कमी पूरी करो और फिर हुआ ये।
• पिता के इलाज के लिए बच्ची ने PM मोदी को लिखा लेटर, तो CM योगी ने दिया ये जवाब।
• JDU राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाये गये नीतीश कुमार, लालू के साथ फिर होगा JDU का महागठबंधन।
• शाहरुख़ या सलमान नहीं बल्कि इस बॉलीवुड एक्टर को डेट करना चाहती है ये दिग्गज खिलाड़ी।
• 16 साल के लड़के पर आया मैडम का दिल, राज खुला तो उठाया ये बड़ा कदम।
• पाकिस्तानी पुलिसवाले ने कोहली को किया शादी के लिए प्रपोज, लोगों ने लगा दी क्लास।

रामरहीम के “विषकन्या” का खुला राज, इसे अय्याशी के लिए कुछ ऐसे करता था यूज।

रामरहीम

नई दिल्ली(ब्यूरो) : डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम साध्वी से रेप केस मामले में जेल में सजा काट रहा है। उसके कुकर्मों को लेकर हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। आपको बता दें की 750 एकड़ में फैले बाबा के डेरे में रहने वाली लड़कियों को साध्वियां और शाही बेटियां कहा जाता था। लेकिन डेरा में रहने बाले लडकियां से जुडी आज एक और सच्चाई सामने आयी है जो कम ही लोगों को पता है। राम रहीम के सेवा में एक ख़ास तरह की लड़कियों की टोली रहती थी जिसे रामरहीम “विषकन्या” का नाम दिया था। तो आइये जानते है आखिर इस विषकन्या की ख़ास बात क्या थी और रामरहीम इसे किस तरह तैयार करता था।

रामरहीम की सेवा के लिए “विषकन्या” की खास टोली रहती थी जिसका मुख्य काम राम रहीम के बिस्तर के लिए लड़कियां तैयार करना होता था। इस “विषकन्या” की सबसे ख़ास बात ये थी की जब कोई लड़की इस टोली शामिल हो  जाती थी उसका संबंध सिर्फ डेरे से ही होता था और उसे बाहरी दुनिया से कोई मतलब नहीं रहता था, यहाँ तक की उसे अपने परिवार से भी नाता तोड़ना पड़ता था। विषकन्याओं में सबसे ख़ास बात ये है की इसमें वही महिला शामिल हो सकती थी जो रामरहीम के विश्वाशो पर खरी हो और बहुत दिन से रामरहीम के बिस्तर गर्म करती आयी हो।

Advertisement

अगर कोई महिला विषकन्या में शामिल हो जाती थी तो रामरहीम की उसपर विशेष कृपा होती थी और उसके हर प्रकार के सुख-सुबिधा का ख्याल रामरहीम रखता था। ये विषकन्या ही होती थी जो रामरहीम के कपड़ों, खान-पान से लेकर उसके लिए नई और सुंदर लड़कियों को गुफा तक भेजने का काम देखती थीं। चलिए अब आपको बताते है की गुरमीत कैसे इन विषकन्याओं का चुनाव करता था। इस बारे में डेरे से जुड़े एक गुप्त सूत्र ने कहा की अनपढ़ और सुंदर न दिखने वाली लड़कियों पर विषकन्या की नजर रहती थी जिसे वो प्रबंधन से कहकर डेरे में खाना बनाने से लेकर मंच की साज सज्जा जैसे कामों में लगा देती थीं, जबकि बेहद खूबसूरत लड़कियों को डेरे में बने स्कूल में पढ़ाने या किसी दूसरे अच्छे काम में लगा दिया जाता था।

इस दौरान एक बात ख्याल रखा जाता था की इन लोगों को अन्य साध्वियों को दूर रखा जाता था और बाबा के साथ हमबिस्तर होने के लिए बिषकन्याओं द्वारा लगातार इन लोगों का ब्रेन-वाश किया जाता था। हालाकिं इस दौरान कई लडकियां अपनी मर्जी से इसके लिए तैयार हो जाती थी जबकि कुछ को जबरन बाबा के हमविस्तर होने के लिए तैयार किया जाता था। अगर इन लड़कियों में से कोई बाबा की खिलाफ आवाज उठाती तो उसे 24 घंटे भूखा रखा जाता और विषकन्याओं द्वारा जमकर पिटा जाता था।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles