ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• योगी की राह पर दिल्ली की केजरीवाल सरकार, कर दिया ये बड़ा ऐलान।
• एक पौराणिक कथा के अनुसार… तो इसलिए होता है महिलाओं को मासिक धर्म।
• नेताओं ने ढूंढा लाल बत्ती का विकल्प, अब इस तरह मिलेगा रास्ता साफ, जानकर होश उड़ जाएंगे।
• ‘AAP’ की हार पर कुमार विश्वास ने उठाए केजरीवाल पर सवाल, कह दी ये बड़ी बात।
• 10 और 5 रूपये के सिक्कों को लेकर RBI ने जारी की ये घोषणा, जानें क्या है !
• सुकमा शहीदों के लिए गौतम गंभीर ने उठाया ये बड़ा कदम, जानकर आप भी करेंगे सैल्यूट।
• MCD चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद बरसीं शीला, राहुल गांधी को दे डाली ये सलाह।
• UP: एक्शन में आई योगी सरकार की ये दबंग मंत्री, कर दिया बड़ा ऐलान।
• भाजपा ऐसे करे कश्मीर समस्या का समाधान तो जल्द दिखेंगे असर, नहीं तो परिस्थतियाँ और बिगड़ सकती है।
• BJP के जीत के पीछे मोदी फैक्टर तो है ही, लेकिन फाइनल रिजल्ट तो अमित शाह के इस “प्रतिशत के खेल” से आता है।
• छत्तीसगढ़ में नक्सली हमला नोटबंदी की विफलता का सूचक है।
• UP: केशव प्रसाद मौर्य ने प्रदेशाध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, अब ये लेंगे उनकी जगह।
• BJP के इस बड़े नेता ने CM नीतीश पर सुकमा के शहीदों को अपमान करने का लगाया आरोप, जानें क्या है पूरा मामला।
• रिलायंस Jio के यूजर्स के लिए बड़ी खुशखबरी, अब साल-डेढ़ साल तक सबकुछ मिलेगा फ्री।
• MCD चुनाव में हार के बाद Congress के इस बड़े नेता ने दिया इस्तीफा, सोनिया-राहुल हुए सन्न।

बड़ी खबर :अब 2000 से कम कीमत वाले स्मार्टफोन देने का प्लान बना रही मोदी सरकार।

देश को कैशलेस इकॉनमी की तरफ ले जाने के मद्देनजर मोदी सरकार ने स्थानीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को 2000 से कम कीमत वाले ऐसे स्मार्टफोन लाने को कहा है ताकि लोग आसानी से डिजिटल लेन-देन कर सके।

नई दिल्ली, 11 जनवरी :अब वो दिन दूर नहीं जब लेटेस्ट और अत्याधुुनिक फीचर्स से बने स्मार्टफोन लोगों को 2000 रुपए से भी कम कीमत में मिलने लगेंगे। नोटंबदी के बाद सरकार देश को कैशलेश इकॉनमी की ओर ले जाने के लिए अब एक ऐसी योजना बनाने जा रही है, जिसमें आम लोगों को सस्ता फोन मुहैया कराया जा सके। दरअसल, केंद्र की मोदी सरकार ने स्थानीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को 2000 रुपए से कम कीमत वाले ऐसे स्मार्टफोन लाने को कहा है ताकि लोग आसानी से डिजिटल लेन-देन कर सके।

Advertisement

नोटबंदी के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को कैशलेस इकॉनमी की ओर ले जाने की कोशिश में लगे हुए है। लेकिन सरकार की यह मंशा तब तक पूरी नहीं होगी जब तक ग्रामीण इलाकों में किफायती स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं हो जाते। अंग्रेजी अखबार ‘द टाइम्स ऑफ इंडिया’ के मुताबिक, हाल ही में नीति आयोग की एक मीटिंग के दौरान सरकार ने माइक्रोमैक्स, इंटेक्स, लावा और कार्बन जैसी घरेलू मोबाइल कंपनियों को कम कीमत पर सस्ते स्मार्टफोन लोगों के लिए उपलब्ध कराने को कहा है। जिसमें लेटेस्ट फीचर्स मौजूद हो। जिसके जरिये डिजिटल ट्रांजैक्शन का दायरे को बढ़ाया जा सके। सूत्रों के मुताबिक, इसके लिए सरकार ने चीन के किसी भी मोबाइल कंपनी से संपर्क नहीं किया है। नीति आयोग की ओर से बुलाई गई इस बैठक में सैमसंग और एप्पल जैसी बड़ी कंपनियों ने भाग नहीं लिया है।

इस बैठक में मौजूद रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि देश में डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए सरकार कई नियम लेकर आई है, जो कि अच्छी तरह काम भी कर रहे हैं लेकिन सरकार ने महसूस किया कि बाजार में कम कीमत वाले स्मार्टफोन नाम मात्र ही हैं। सरकार ने इन कंपनियों को दो से ढ़ाई करोड़ स्मार्टफोन बाजार में लाने के लिए कहा है। इसके साथ ही सरकार ने इसके लिए किसी भी तरह की सब्सिडी देने से मना कर दिया है। इसके अलावा इस स्मार्टफोन में फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन के लिए स्कैनिंग और फिंगर प्रिंट स्कैनर जैसे फीचर्स भी होने चाहिए।

आपको बता दें कि वर्तमान में भारतीय बाजार में 3G स्मार्टफोन की कीमत करीब 2500 रुपए से शुरु होती हैं, वहीं 4G स्मार्टफोन की कीमत और भी ज्यादा है। गौरतलब है कि देश में एक अरब स्मार्टफोन यूजर्स में से लगभग 30 करोड़ यूजर्स स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल करते है। जहां शहरों में स्मार्टफोन के इस्तेमाल का चलन ज्यादा देखने को मिलता है, वहीं गांवों में आज भी ज्यादातर लोगों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं है।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles