ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• 3 साल बाद भी बरक़रार है मोदी लहर, अगर अभी हुआ आम चुनाव तो NDA को मिलेगी इतनी सीटें।
• बेटे ने अपनी मां के साथ की ऐसी शर्मनाक हरकत, जानकर रोंगटें खड़े हो जायेंगे।
• सनी लियॉन ने शेयर की ऐसी तस्वीरें, देखकर बड़े-बड़े नेताओं के उड़ जायेंगे होश।
• सैफ की पहली शादी में पहुंची थी करीना, बधाई देते हुए कही थी ये बात !
• नितीश ने सरेआम “बाहुबली” के आगे जोड़े हाथ, बिहार में मचा बबाल।
• सानिया मिर्जा ने पाक के मुंह पर जड़ा तमाचा, लोग बोले-शोएब कब इसको तलाक दोगे !
• बेटी पैदा होते ही मां ने की ये शर्मनाक हरकत, जानकर होश उड़ जायेंगे।
• इस Allrounder क्रिकेटर को टीचर से था प्यार, लेकिन अब उसकी बहन ही है उसके 4 बच्चों की माँ।
• सड़क से गुजर रहे राहगीर को झाड़ियों में सुनाई दी अजीब आवाज, देखा तो रह गया दंग।
• गोरखपुर हादसे के खलनायक कफील खान का सामने आया एक और सच्चाई।
• नमाज और जन्माष्टमी को लेकर CM योगी ने दिया बड़ा बयान, कहा -अगर मैं सड़क पर नमाज….
• टीवी की इस मशहूर एक्ट्रेस ने PM मोदी से की अपील, कहा -बेटी पैदा करने से अब डर लगता है…..
• केंद्र सरकार ने बंद किये 81 लाख आधार नंबर, आपका है या नहीं, ऐसे करें चेक।
• पीएम मोदी ने बिहार के लोगों को दिया जबर्दस्त तोहफा, खुशी से झूमे लोग।
• मेहंदी ने दिखाया अपना असली रंग, बच्ची के पूरे हाथ का कर दिया ये हाल।

बड़ी खबर :अब 2000 से कम कीमत वाले स्मार्टफोन देने का प्लान बना रही मोदी सरकार।

देश को कैशलेस इकॉनमी की तरफ ले जाने के मद्देनजर मोदी सरकार ने स्थानीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को 2000 से कम कीमत वाले ऐसे स्मार्टफोन लाने को कहा है ताकि लोग आसानी से डिजिटल लेन-देन कर सके।

नई दिल्ली, 11 जनवरी :अब वो दिन दूर नहीं जब लेटेस्ट और अत्याधुुनिक फीचर्स से बने स्मार्टफोन लोगों को 2000 रुपए से भी कम कीमत में मिलने लगेंगे। नोटंबदी के बाद सरकार देश को कैशलेश इकॉनमी की ओर ले जाने के लिए अब एक ऐसी योजना बनाने जा रही है, जिसमें आम लोगों को सस्ता फोन मुहैया कराया जा सके। दरअसल, केंद्र की मोदी सरकार ने स्थानीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को 2000 रुपए से कम कीमत वाले ऐसे स्मार्टफोन लाने को कहा है ताकि लोग आसानी से डिजिटल लेन-देन कर सके।

Advertisement

नोटबंदी के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को कैशलेस इकॉनमी की ओर ले जाने की कोशिश में लगे हुए है। लेकिन सरकार की यह मंशा तब तक पूरी नहीं होगी जब तक ग्रामीण इलाकों में किफायती स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं हो जाते। अंग्रेजी अखबार ‘द टाइम्स ऑफ इंडिया’ के मुताबिक, हाल ही में नीति आयोग की एक मीटिंग के दौरान सरकार ने माइक्रोमैक्स, इंटेक्स, लावा और कार्बन जैसी घरेलू मोबाइल कंपनियों को कम कीमत पर सस्ते स्मार्टफोन लोगों के लिए उपलब्ध कराने को कहा है। जिसमें लेटेस्ट फीचर्स मौजूद हो। जिसके जरिये डिजिटल ट्रांजैक्शन का दायरे को बढ़ाया जा सके। सूत्रों के मुताबिक, इसके लिए सरकार ने चीन के किसी भी मोबाइल कंपनी से संपर्क नहीं किया है। नीति आयोग की ओर से बुलाई गई इस बैठक में सैमसंग और एप्पल जैसी बड़ी कंपनियों ने भाग नहीं लिया है।

इस बैठक में मौजूद रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि देश में डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए सरकार कई नियम लेकर आई है, जो कि अच्छी तरह काम भी कर रहे हैं लेकिन सरकार ने महसूस किया कि बाजार में कम कीमत वाले स्मार्टफोन नाम मात्र ही हैं। सरकार ने इन कंपनियों को दो से ढ़ाई करोड़ स्मार्टफोन बाजार में लाने के लिए कहा है। इसके साथ ही सरकार ने इसके लिए किसी भी तरह की सब्सिडी देने से मना कर दिया है। इसके अलावा इस स्मार्टफोन में फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन के लिए स्कैनिंग और फिंगर प्रिंट स्कैनर जैसे फीचर्स भी होने चाहिए।

आपको बता दें कि वर्तमान में भारतीय बाजार में 3G स्मार्टफोन की कीमत करीब 2500 रुपए से शुरु होती हैं, वहीं 4G स्मार्टफोन की कीमत और भी ज्यादा है। गौरतलब है कि देश में एक अरब स्मार्टफोन यूजर्स में से लगभग 30 करोड़ यूजर्स स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल करते है। जहां शहरों में स्मार्टफोन के इस्तेमाल का चलन ज्यादा देखने को मिलता है, वहीं गांवों में आज भी ज्यादातर लोगों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं है।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles