ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• PM मोदी और योगी आदित्यनाथ की तुलना करते हुए राम गोपाल वर्मा ने कह दी ये बड़ी बात।
• तुलसीदास को लेकर CM योगी आदित्यनाथ ने दिया ये बड़ा बयान….. मचा बवाल।
• योगी राज में ‘शाकाहारी’ बनेगा UP, अनिश्चितकालीन हड़ताल पर मीट व्यापारी।
• राष्ट्रपति चुनाव को लेकर PM मोदी ने उद्धव ठाकरे को रात्रिभोज पर किया आमंत्रित, इस फैसले पर लगेगी मुहर।
• CM योगी के इस फैसले के समर्थन में आया सबसे बड़ा मुस्लिम यूथ आइकॉन… आजम, ओवैसी हुई सन्न।
• Video: BJP के इस नेता ने गो-ह्त्या को लेकर दिया विवादित बयान, मचा हंगामा।
• ट्विंकल खन्ना ने CM योगी को दे डाली ऐसी सलाह…….जानकर आपके होश उड़ जायेंगे।
• 31 मार्च से पहले ही आ गया Jio का ये धमाकेदार ऑफर, इतने के रिचार्ज पर ग्राहकों को मिलेगा 120GB फ्री डेटा।
• CM बनने के बाद पहली बार गोरखपुर आये योगी, कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए कर दिया ये बड़ा एलान।
• एक्शन में CM योगी…… 15 जून तक यूपी की सभी सड़कें गड्ढा मुक्त करने के दिए आदेश।
• अखिलेश यादव ने दिया बड़ा बयान, कहा -2022 में सत्ता में लौटूंगा तो गंगाजल से सीएम हाउस धुलवाऊंगा।
• UP: IPS अफसर हिमांशु कुमार सस्पेंड, योगी सरकार पर लगाया था ये गंभीर आरोप।
• केजरीवाल ने किया ऐलान अगर MCD चुनाव में ‘AAP’ जीती, तो नहीं करना पड़ेगा ये काम।
• मायावती को लगा बड़ा झटका, BJP में शामिल हो सकते है बसपा के ये पूर्व मंत्री।
• नीतीश की राह पर चले योगी…… UP में भी बंद हो सकते है ये काम।

बड़ी खबर :अब 2000 से कम कीमत वाले स्मार्टफोन देने का प्लान बना रही मोदी सरकार।

देश को कैशलेस इकॉनमी की तरफ ले जाने के मद्देनजर मोदी सरकार ने स्थानीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को 2000 से कम कीमत वाले ऐसे स्मार्टफोन लाने को कहा है ताकि लोग आसानी से डिजिटल लेन-देन कर सके।

नई दिल्ली, 11 जनवरी :अब वो दिन दूर नहीं जब लेटेस्ट और अत्याधुुनिक फीचर्स से बने स्मार्टफोन लोगों को 2000 रुपए से भी कम कीमत में मिलने लगेंगे। नोटंबदी के बाद सरकार देश को कैशलेश इकॉनमी की ओर ले जाने के लिए अब एक ऐसी योजना बनाने जा रही है, जिसमें आम लोगों को सस्ता फोन मुहैया कराया जा सके। दरअसल, केंद्र की मोदी सरकार ने स्थानीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को 2000 रुपए से कम कीमत वाले ऐसे स्मार्टफोन लाने को कहा है ताकि लोग आसानी से डिजिटल लेन-देन कर सके।

Advertisement

नोटबंदी के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को कैशलेस इकॉनमी की ओर ले जाने की कोशिश में लगे हुए है। लेकिन सरकार की यह मंशा तब तक पूरी नहीं होगी जब तक ग्रामीण इलाकों में किफायती स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं हो जाते। अंग्रेजी अखबार ‘द टाइम्स ऑफ इंडिया’ के मुताबिक, हाल ही में नीति आयोग की एक मीटिंग के दौरान सरकार ने माइक्रोमैक्स, इंटेक्स, लावा और कार्बन जैसी घरेलू मोबाइल कंपनियों को कम कीमत पर सस्ते स्मार्टफोन लोगों के लिए उपलब्ध कराने को कहा है। जिसमें लेटेस्ट फीचर्स मौजूद हो। जिसके जरिये डिजिटल ट्रांजैक्शन का दायरे को बढ़ाया जा सके। सूत्रों के मुताबिक, इसके लिए सरकार ने चीन के किसी भी मोबाइल कंपनी से संपर्क नहीं किया है। नीति आयोग की ओर से बुलाई गई इस बैठक में सैमसंग और एप्पल जैसी बड़ी कंपनियों ने भाग नहीं लिया है।

इस बैठक में मौजूद रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि देश में डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए सरकार कई नियम लेकर आई है, जो कि अच्छी तरह काम भी कर रहे हैं लेकिन सरकार ने महसूस किया कि बाजार में कम कीमत वाले स्मार्टफोन नाम मात्र ही हैं। सरकार ने इन कंपनियों को दो से ढ़ाई करोड़ स्मार्टफोन बाजार में लाने के लिए कहा है। इसके साथ ही सरकार ने इसके लिए किसी भी तरह की सब्सिडी देने से मना कर दिया है। इसके अलावा इस स्मार्टफोन में फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन के लिए स्कैनिंग और फिंगर प्रिंट स्कैनर जैसे फीचर्स भी होने चाहिए।

आपको बता दें कि वर्तमान में भारतीय बाजार में 3G स्मार्टफोन की कीमत करीब 2500 रुपए से शुरु होती हैं, वहीं 4G स्मार्टफोन की कीमत और भी ज्यादा है। गौरतलब है कि देश में एक अरब स्मार्टफोन यूजर्स में से लगभग 30 करोड़ यूजर्स स्मार्टफोन्स का इस्तेमाल करते है। जहां शहरों में स्मार्टफोन के इस्तेमाल का चलन ज्यादा देखने को मिलता है, वहीं गांवों में आज भी ज्यादातर लोगों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं है।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-

Related Articles