ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• बॉलीवुड के इस सिंगर ने एक बच्ची की मां से रचाई थी शादी, विवादों से रहा हैं नाता।
• वनडे टीम से बाहर चल रहे अश्विन ने विराट कोहली को लेकर दिया बयान, मचा हंगामा।
• नाक के आकार से जानिये इंसान का स्वभाव, जानें क्या कहती हैं आपकी नाक आपके बारे में।
• मोदी सरकार के इस नए स्कीम से कमायें 80 हजार प्रति महीने, ऐसे उठाये फायदा.
• JIO के बाद मुकेश अम्बानी का एक और जबर्दस्त धमाका, मात्र इतने रुपये प्रति लीटर मिलेगा पेट्रोल.
• अमिताभ बच्चन की बेटी के बारे में सामने आई ऐसी सच्चाई, सुनकर होश उड़ जायेंगे आपके।
• दीपिका पादुकोण ने किया खुलासा, 55 साल के इस शख्स के साथ करना चाहती है शादी।
• CM योगी ने 10 साल पहले इस लड़की के सिर पर रखा था हाथ, आज तक निभा रहे हैं साथ।
• गुपचुप तरीके ने जहीर खान ने इस बॉलीवुड एक्ट्रेस से रचाई शादी, तो रोहित शर्मा ने कही ये बात।
• USA में जॉब छोड़ गाँव में बकरियां पाल रहा है ये साइंटिस्ट, कमा रहा है लाखों।
• गुजरात चुनाव में PM मोदी ने चल दिया सबसे बड़ा दांव, दंग रह गई कांग्रेस पार्टी।
• गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थी कुछ ऐसी।
• धोनी ने किया खुलासा, 2007 में इसलिए बनाया गया था टीम इंडिया का कप्तान।
• शादी की पहली रात दूल्हे ने होटल में पत्नी के साथ किया ऐसा काम, वह हो गई बेहोश।
• 6 साल के लव अफेयर का ऐसे हुआ अंत, BF ने लड़की से रखी थी ऐसी डिमांड।

गुजराल सरकार पर प्रणव मुखर्जी ने किया ये हैरान करने वाला खुलासा, जानकर हिल जायेंगे।

दिल्ली में प्रणव मुखर्जी की किताब ‘द कोलिशन ईयर्स का विमोचन हुआ, जिसमे राजनीति के तमाम रहस्य सामने आकर सबको चौंका रहे हैं। 

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर :देश के सियासत के हिसाब के एक लंबे दौर को पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने देखा। कुछ अनकहे और अनदेखे राजनीतिक रहस्यों को उन्होंने बड़ी बेबाकी से अपनी किताब ‘द कोलिशन ईयर्स’ में दर्ज भी किया। अब उस पन्नों से देश की राजनीति के तमाम रहस्य सामने आकर सबको चौंका रहे हैं। शुक्रवार को दिल्ली में प्रणव मुखर्जी की इस किताब का विमोचन हुआ था। 

Advertisement

विमोचन के दौरान भी यूपीए सरकार में प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह ने इस अहम पद के लिए खुद को प्रणब से कमतर उम्मीदवार करार दिया था। वहीं, प्रणब ने बड़ी साफगोई के साथ देश के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान मनमोहन सिंह की जगह खुद के पीएम बनने की उम्मीद का जिक्र किया है। हालांकि, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति के नाम पर प्रस्तावित कर उनके लिए कोई विकल्प ही नहीं छोड़ा। 

उनके मन में पीएम बनने की जगी उम्मीद के इस खुलासे के अलावा प्रणब मुखर्जी ने संयुक्त मोर्चा सरकार में प्रधानमंत्री रहे आईके गुजराल को गिराने के रहस्य से भी पर्दा उठाया है। उन्होंने अपने किताब में कहा है कि आइके गुजराल को पीएम पद से हटाकर से हटाकर खुद पीएम बनने की कोशिश उस समय के कांग्रेस अध्यक्ष सीताराम केसरी ने की थी।

उन्होंने किताब में लिखा है, सीताराम केसरी ने 1977 में तत्कालीन प्रधानमंत्री आइके गुजराल के यूनाइटेड फ्रंट की सरकार को अस्थिर करने में बड़ी भूमिका निभाई थी। उन्होंने इसकी वजह के रूप में सीताराम केसरी के खुद के प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जताई है। कांग्रेस में रहते हुए संगठन और उसकी केंद्रीय सरकारों में अहम भूमिका में रहे प्रणव मुखर्जी ने इस दौरान के वाकये को किताब में उतारा है। 

उन्होंने लिखा है कांग्रेस ने गुजराल सरकार से समर्थन वापस लेने की मांग की। उनके मुताबिक़ जैन कमीशन की प्रारंभिक रिपोर्ट की आड़ में यह किया गया। इस कमीशन की रिपोर्ट में संयुक्त मोर्चा में शामिल डीएमके और उसके नेता का लिट्टे नेता वी प्रभाकरन को बढ़ावा देने का जिक्र था। कांग्रेस बाहर से आईके गुजराल की संयुक्त मोर्चा सरकार को समर्थन दे रही थी। प्रणब मुखर्जी ने इन हालात में समर्थन वापसी पर सवाल उठाते हुए इसका भी राजफाश किया है। 

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles