ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• बॉलीवुड के इस सिंगर ने एक बच्ची की मां से रचाई थी शादी, विवादों से रहा हैं नाता।
• वनडे टीम से बाहर चल रहे अश्विन ने विराट कोहली को लेकर दिया बयान, मचा हंगामा।
• नाक के आकार से जानिये इंसान का स्वभाव, जानें क्या कहती हैं आपकी नाक आपके बारे में।
• मोदी सरकार के इस नए स्कीम से कमायें 80 हजार प्रति महीने, ऐसे उठाये फायदा.
• JIO के बाद मुकेश अम्बानी का एक और जबर्दस्त धमाका, मात्र इतने रुपये प्रति लीटर मिलेगा पेट्रोल.
• अमिताभ बच्चन की बेटी के बारे में सामने आई ऐसी सच्चाई, सुनकर होश उड़ जायेंगे आपके।
• दीपिका पादुकोण ने किया खुलासा, 55 साल के इस शख्स के साथ करना चाहती है शादी।
• CM योगी ने 10 साल पहले इस लड़की के सिर पर रखा था हाथ, आज तक निभा रहे हैं साथ।
• गुपचुप तरीके ने जहीर खान ने इस बॉलीवुड एक्ट्रेस से रचाई शादी, तो रोहित शर्मा ने कही ये बात।
• USA में जॉब छोड़ गाँव में बकरियां पाल रहा है ये साइंटिस्ट, कमा रहा है लाखों।
• गुजरात चुनाव में PM मोदी ने चल दिया सबसे बड़ा दांव, दंग रह गई कांग्रेस पार्टी।
• गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थी कुछ ऐसी।
• धोनी ने किया खुलासा, 2007 में इसलिए बनाया गया था टीम इंडिया का कप्तान।
• शादी की पहली रात दूल्हे ने होटल में पत्नी के साथ किया ऐसा काम, वह हो गई बेहोश।
• 6 साल के लव अफेयर का ऐसे हुआ अंत, BF ने लड़की से रखी थी ऐसी डिमांड।

इस भारतीय लड़के ने बनाया नया देश, पिता को राष्ट्रपति नियुक्त कर खुद बना राजा।

इंदौर के रहने वाले सुयश दीक्षित ने एक जगह देखी जो इजिप्ट और सुडान के बीच में पड़ती है जिसमें किसी भी देश का मालिकाना हक नहीं था। 

नई दिल्ली, 15 नवंबर :अपने देश में जमीन के एक-एक हिस्से को लेकर लूट मची हुई है। लोग अपनों के दुश्मन बन बैठे हैं। वहीं, देश के एक नौजवान इससे इतर कुछ अलग ही सोचा और देश के बाहर एक पूरे मुल्क का मालिक बन बैठा है। आपको सुनने में ये थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन, ये सच है। दरअसल, इंदौर के रहने वाले सुयश दीक्षित ने एक जगह देखी जो इजिप्ट और सुडान के बीच में पड़ती है जिसमें किसी भी देश का मालिकाना हक नहीं था।

Advertisement

सुयश ने यहां अपना देश बना लिया है और वहां अपना झंडा लगाकर उसे किंगडम ऑफ़ दीक्षित घोषित किया है। उसने खुद को इस गैर दावाग्रस्त इलाके का राजा बताते हुए संयुक्त राष्ट्र (UN) से उनके नए देश को मान्यता देने की बात कही है। इतना नहीं सुयश ने एक वेबसाइट बनाकर लोगों से इस देश की नागरिकता के लेने का आवदेन करने को भी कहा है।आपको बता दें, जिस इलाके को सुयश ने ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’ रखा है उसका असली नाम ताविल है।

मिली जानकारी के अनुसार, ये यह पूरा इलाका रेगिस्तानी है, जो मिस्त्र और सूडान की दक्षिणी सीमा से लगा हुआ है। मिस्त्र और सूडान इसे अपना इलाका नहीं मानते। मिस्त्र का मानना है कि 800 वर्ग मील का यह इलाका सूडान का है, जबकि सूडान का मानता है कि यह मिस्त्र का है। सुयश ने अपने फेसबुक जब पहली बार उस क्षेत्र पर दावा करते हुए तस्वीरें डाली तो पूरी दुनिया में हलचल मच गई।

उन्होंने अपनी कहानी भी शेयर की है, जिसमें सुयश ने बताया है कि वे 319 किमी का सफर कर यहां तक पहुंचे। उनके अनुसार रेगिस्तानी क्षेत्र में पहुंचने के लिए कोई सड़क भी नहीं थी। यहां आकर उन्होंने पौधा लगाने के लिए बीज बोया और उसे पानी दिया। सुशय का कहना है कि यहां पौधे का बीज लगाकर अब मैं यह दावा करता हूं कि यह सारी जगह मेरी है। उसने अपने पिता को बर्थ-डे गिफ्ट देते हुए उन्हें ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’ का प्रधानमंत्री बनाया है।

सुयश इंदौर के रहने वाले हैं, वे शहर के गुरु हरिकिशन पब्लिक स्कूल में पढ़े हैं। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान से पढ़ाई पूरी करने के बाद वे गूगल डेवलपर्स ग्रुप इंदौर के कम्यूनिटी लीडर भी रहे। सुयश ने जोमोटो, माइक्रोसॉफ्ट के साथ भी काम किया और वर्तमान में वे सॉफ्टीनेटर कंपनी के सीईओ हैं।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles