ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• कभी आइसक्रीम का ठेला लगाता था ये शख्स, ऐसे बन गया 500 करोड़ का मालिक।
• IPL में इस इंडियन क्रिकेटर की होगी चेन्नई सुपर किंग्स से छुट्टी, ये नया नियम बन रहा वजह।
• साऊथ की इस एक्ट्रेस को देखने के लिए लोग हुए पागल, लगाने पड़े 200 बाउंसर्स।
• इस भारतीय लड़के ने बनाया नया देश, पिता को राष्ट्रपति नियुक्त कर खुद बना राजा।
• नवविवाहित को पता चला पति का ये गहरा राज, शादी के कुछ दिन बाद ही उठाया ये कदम।
• रात के अँधेरे में होटलों के बाहर कूड़े में पड़ा खाना चुनते हैं IAS, वजह जान हैरान रह जाएंगे।
• ये है भारत की सबसे Hot और बोल्ड महिला बॉडी बिल्डर, तस्वीरें देख रह जायेंगे दंग।
• अगर आपको चाहिए सस्ता गैस सिलेंडर, तो बस करना होगा ये छोटा काम।
• रोज खाएं पानी में भीगी हुई मूंगफली के कुछ दाने, होंगे ये 7 फायदे।
• इंटरव्यू के दौरान पूछा गया अटपटा सवाल, जिसका लड़की ने दिया ये करारा जवाब।
• प्रियंका चोपड़ा ने कैमरे के सामने इस काम को कहा था ना, भुगतना पड़ा था ये खामियाजा।
• ये है राष्ट्रपति की बेटी, अब इस कारण से छोड़नी पड़ रही है एयरहोस्टेस की जॉब।
• जब शूटिंग के दौरान प्रेग्नेंट हो गई थी ये एक्ट्रेस, घर बैठने के बजाये किया कुछ ऐसा।
• कमजोर शरीर में जान डाल देगा ये ड्राई फ्रूट, पोषण से है भरपूर।
• चाय बेचकर बना करोड़पति, कभी इस वजह से रिजेक्ट कर देते थे लड़की वाले।

योगी आदित्यनाथ को CM बनाकर PM मोदी ने सपा के इस महिला नेता को दिया ये करारा जवाब।

ABVP ने जब योगी आदित्यनाथ को छात्रसंघ का उद्घाटन करने के लिए बुलाया गया था तो उस वक्त सपा की इस महिला नेता ने भगवा खेमे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। 

नई दिल्ली, 20 मार्च: उत्तर प्रदेश में प्रचंड बहुमत पाने के बाद बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को नया मुख्यमंत्री घोषित किया है। योगी आदित्यनाथ को राज्य का सीएम बनने से यह साफ हो गया है कि यूपी चुनाव भले ही बीत गया हो लेकिन, यहां की तपिश और बढ़ेगी। पूर्वांचल के दिग्गज और कट्टर हिंदुत्ववादी नेता की पहचान रखने वाले योगी के नाम पर भले ही भगवा ख़ुशी मना रहा हो लेकिन, इलाहाबाद की वो यादें ताजा हो गई जब तत्कालीन इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र अध्यक्ष ने योगी आदित्यनाथ का रथ रोक दिया था। आपको बता दें, आज से करीब ढ़ाई साल पहले इस पटकथा की कहानी लिखी गई थी। उस वक्त इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का चुनाव हो चुका था और देश की आजादी के बाद ऋचा सिंह  पहली महिला अध्यक्ष बनी।

Advertisement

उस वक्त ऋचा पूरे राजनैतिक सबाब पर थी लेकिन, उसी दरम्यान उन्होंने कुछ ऐसा कर दिया जिसकी टीस बीजेपी को ढ़ाई साल तक सालती रही। दरअसल, ABVP ने छात्रसंघ का उद्घाटन करने के लिए बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ को इलाहबाद बुलाया गया था। लेकिन, ऋचा सिंह ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। उस वक्त योगी तो इलाहबाद नहीं आये थे लेकिन, यह टीस उन्हें हमेशा सताती रही। इस चुनाव में न सिर्फ सपा का सूपड़ा साफ हो गया बल्कि, ऋचा भी चुप्पी साधे हुए है। लेकिन, इन सबके पीछे प्रधानमंत्री का मास्टरमाइंड लगा हुआ था जिसके राज अब खुल रहे हैं।

उस वक्त ऋचा ने योगी को इलाहबाद आने से रोकने के लिए सड़कों पर उतर गई थी और योगी को अपना कार्यक्रम रद्द करना पड़ा था। जिसके बाद ऋचा अचानक मीडिया में सुर्ख़ियों में छा गई और देखते ही देखते समाजवादी छात्र सभा की नेत्री ऋचा सिंह पार्टी की राजकुमारी हो गई। योगी आदित्यनाथ का इस तरह से कभी विरोध नहीं हुआ था और न ही वे कभी इस तरह झुके थे। इस घटना से ऋचा का कद ऊंचा हो गया। ऋचा ने एलान कर दिया था कि वो कभी भी आदित्यनाथ को इलाहबाद आने नहीं देगी और साथ ही कहा था कि यूनिवर्सिटी में भगवाकरण की राजनीति कभी भी नहीं होने देगी।

ऋचा ने जब इलाहबाद पश्चिमी से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ने के संकेत दिए तो बीजेपी ने भगवाकरण की राजनीति का एहसास दिलाने के लिए प्लान तैयार कर लिया। ऋचा के खिलाफ बीजेपी ने एक्सपेरिमेंटल बॉय सिद्धार्थ नाथ सिंह को उतारा। सिद्धार्थ ने पीएम मोदी के एक्सपेरिमेंट को सही साबित किया और साथ ही योगी को रोके जाने जाने का भी बदला ले लिया। योगी को मुख्यमंत्री बनाये जाने के बाद यूनिवर्सिटी में ABVP के कार्यकर्ताओं ने जमकर जश्न मनाया और कि अब योगी को इलाहबाद आने से कौन रोकेगा।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles