ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• 70 सालों से बंद था इस घर का दरवाजा, खुलते ही खुली परिवार की किस्मत।
• मां ने बेटे से कहा -तुम बड़े हो गए हो मेरे पति की कमी पूरी करो और फिर हुआ ये।
• पिता के इलाज के लिए बच्ची ने PM मोदी को लिखा लेटर, तो CM योगी ने दिया ये जवाब।
• JDU राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाये गये नीतीश कुमार, लालू के साथ फिर होगा JDU का महागठबंधन।
• शाहरुख़ या सलमान नहीं बल्कि इस बॉलीवुड एक्टर को डेट करना चाहती है ये दिग्गज खिलाड़ी।
• 16 साल के लड़के पर आया मैडम का दिल, राज खुला तो उठाया ये बड़ा कदम।
• पाकिस्तानी पुलिसवाले ने कोहली को किया शादी के लिए प्रपोज, लोगों ने लगा दी क्लास।
• पीएम मोदी ने आडवाणी को क्यों दी सजा, इस बड़े नेता ने किया चौंकाने वाला खुलासा।
• सलमान नहीं बल्कि इस शख्स के लिए पागल थी ऐश्वर्या, नाम जान होश उड़ जाएंगे।
• ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में पांड्या ने की धुलाई तो धोनी ने रच दिया इतिहास।
• जिन स्त्रियों के शरीर के ये अंग बड़े होते है, वो मर्दो के लिए होती है भाग्यवान।
• रेलवे ने बनाया ऐसा नियम… जानकर आपकी नींद उड़ जायेगी।
• नहीं रहे 1965 के जंग के ये जांबाज योद्धा, पीएम मोदी ने ये बात कह दी श्रद्धांजलि।
• बहन की इन हरकतों से परेशान था भाई, प्रेग्नेंट पत्नी संग उठाया ये खौफनाक कदम।
• सैलरी बढ़ाने के बाद मोदी सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दिया ये तगड़ा झटका।

सातवीं पास मां, तीन बार दसवीं फेल पिता का बेटा है ये IPS, आधी तनख्वाह कर देता है दान।

बिहार में ‘सिंघम’ के नाम से फेमस आईपीएस अफसर शिवदीप वामनराव लांडे की कहानी किसी फ़िल्मी किरदार से कम नहीं है।

नई दिल्ली, 13 सितंबर :‘सिंघम’ के नाम से फेमस आईपीएस अफसर शिवदीप वामनराव लांडे की कहानी किसी फ़िल्मी किरदार से कम नहीं है। शिवदीप इस वक्त अपने गृह राज्य महाराष्ट्र में पोस्टेड हैं। मई 2015 में उन्हें यहां तीन सालों के लिए केंद्र सरकार द्वारा भेजा गया था। 2006 बैच के इस आईपीएस अफसर ने अपनी मेहनत और लगन से फर्श से अर्श तक का सफर तय किया है।

Advertisement

महाराष्ट्र के अकोला जिले के परसा गांव में एक किसान परिवार में जन्मे शिवदीप लांडे की परवरिश बेहद ही मुश्किल हालातों में हुई। उनके परिवार और शैक्षणिक स्थिति बेहद ही खराब थी। शिवदीप की मां जहां 7वीं कक्षा तक पढ़ी थी वहीं, उनके पिता तीन बार 10वीं में तीन बार फेल होने के बाद पढ़ाई छोड़ खेती-बारी के काम में लग गए थे। शिवदीप के दो भाई है जिसमे ये सबसे बड़े हैं।

उन्होंने स्कॉलरशिप की राशि से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की और मुंबई में रहकर UPSC की तैयारी की थी। इस दौरान उन्होंने राजस्व विभाग में भी नौकरी की थी। लेकिन, इसी बीच उनका UPSC में सेलेक्शन हो गया। शिवदीप की पहली पोस्टिंग बिहार के नक्सल प्रभावित जिले मुंगेर के जमालपुर में हुई थी। इसके बाद उनकी पोस्टिंग राजधानी पटना में हुई थी, जहां उनकी अनोखी कार्यशैली की वजह से देशभर में वे मशहूर हो गए थे।

लेकिन, इस दौरान वे अपराधियों की आँखों में खटकने लगे, उनका बार-बार ट्रांसफर किया जाने लगा। हालांकि, वे जितना अपने ड्यूटी को लेकर सख्त नजर आते थे लेकिन अंदर से उतना ही विनम्र थे। उन्होंने बताया कि शादी से पहले वह अपनी सैलरी का 60 फीसदी हिस्सा एनजीओ को दान करते थे। दान करने का सिलसिला अभी भी बदस्तूर जारी है लेकिन अब पत्नी और बच्ची की जिम्मेदारियों के चलते दान करने राशि कम हो गई है।

वह अब भी अपनी तंख्वाह का 25 से 30 प्रतिशत हिस्सा दान कर देते हैं। इसके अलावा कई सामाजिक कार्यों में भी वह सहयोग करते हैं। उन्होंने कई गरीब लड़कियों की सामूहिक शादी भी करवाई है। लड़कियों की सुरक्षा के लिए काम किया है। शिवदीप की शादी महाराष्ट्र के मंत्री विजय शिवतारे की बेटी ममता से 2 फरवरी 2014 को हुई है।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles