ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• अमिताभ बच्चन की बेटी के बारे में सामने आई ऐसी सच्चाई, सुनकर होश उड़ जायेंगे आपके।
• दीपिका पादुकोण ने किया खुलासा, 55 साल के इस शख्स के साथ करना चाहती है शादी।
• CM योगी ने 10 साल पहले इस लड़की के सिर पर रखा था हाथ, आज तक निभा रहे हैं साथ।
• गुपचुप तरीके ने जहीर खान ने इस बॉलीवुड एक्ट्रेस से रचाई शादी, तो रोहित शर्मा ने कही ये बात।
• USA में जॉब छोड़ गाँव में बकरियां पाल रहा है ये साइंटिस्ट, कमा रहा है लाखों।
• गुजरात चुनाव में PM मोदी ने चल दिया सबसे बड़ा दांव, दंग रह गई कांग्रेस पार्टी।
• गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थी कुछ ऐसी।
• धोनी ने किया खुलासा, 2007 में इसलिए बनाया गया था टीम इंडिया का कप्तान।
• शादी की पहली रात दूल्हे ने होटल में पत्नी के साथ किया ऐसा काम, वह हो गई बेहोश।
• 6 साल के लव अफेयर का ऐसे हुआ अंत, BF ने लड़की से रखी थी ऐसी डिमांड।
• इस महिला IAS ने छीन ली मंत्री की कुर्सी, किया ऐसा खुलासा कि हिल गई पूरी सरकार।
• जवानी में सफेद हो रहे हैं बाल तो आजमाइए सिर्फ 1 नुस्खा, तेजी से होंगे काले।
• ये हैं रानी पद्मावती के असली वंशज, जीते हैं महाराजा जैसी लाइफ।
• 6 साल की हुई देश की पहली बेबी सेलिब्रिटी, अमिताभ ने ऐसे किया पोती को बर्थ डे विश।
• भगवा गमछे में CM योगी से मिलने पहुंचा बसपा का ये बाहुबली, मची खलबली।

बाबा रामदेव पर भी छाए संकट के बादल, इस महिला पत्रकार ने खोले दिए ये राज।

बाबा रामदेव

नई दिल्ली(ब्यूरो) : कई सालों से बाबा रामदेव पर रिसर्च करने वाली एक अंग्रेजी पत्रकार प्रियंका पाठक नारायण ने एक किताब लिखी है जिसका नाम है ‘गॉडमैन टू टाइकून’ . इस किताब में उन्होंने बाबा रामदेव से जुड़े तामाम ऐसे रहस्यों का खुलासा किया और इस और ध्यान दिलवाया है की अचानक से बाबा एक योगी से बिजनस मैन कैसे बन गए। इस किताब में सवाल उठाती हुई कहती है की न जाने क्यों जिस गुरु से बाबा रामदेव कुछ भी गुर सीखते वो ही गुरु उनकी अद्भुत जीवन यात्रा से गायब हो जाता है।

इन्होने बाबा रामदेव के 77 वर्षीय गुरु शंकर देव का जिक्र करते हुए कहते है की ये अचानक ही एक दिन सुबह सैर पर निकले और गायब हो गए। जिस वक़्त गुरु शंकर देव जुलाई 2007 में गायब हुए उस वक़्त रामदेव, ब्रिटेन की यात्रा पर थे। लेखिका प्रियंका अपनी किताब में लिखती हैं कि इतने बड़े हादसे के बावजूद बाबा ने विदेश यात्रा बीच में नहीं रोकी। वो दो महीने बाद स्वदेश लौटे। पुलिस ने जब मामले की गहराई से छानबीन नहीं की तो पांच साल बाद यानी 2012 में गुमशुदगी की इस घटना की जांच सीबीआई को दी गयी। अब तक जांच जारी है पर रामदेव के गुरु शंकर देव के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पायी है।

Advertisement

बाबा रामदेव के मित्र और आयुर्वेद के जाने माने वैद्य स्वामी योगानंद की हत्या भी कम रहस्यमयी नहीं है। स्वामी योगानंद ने ही बाबा को आयुर्वेद दवा बनाने का लाइसेंस 1995 में उपलब्ध कराया था। बाबा रामदेव 8 वर्षों तक योगानंद के लाइसेंस पर ही आयुर्वेद की दवा का उत्पादन करते रहे। 2003 में बाबा रामदेव ने योगानंद के साथ साझेदारी खत्म की। साल भर बाद योगानंद का शव उनके घर में खून से लथपथ मिला। 2005 में हत्या की जांच बंद कर दी गयी।

राजीव दीक्षित को कौन नहीं जानता। इन्होने ही बाबा रामदेव को बाबा को आयुर्वेद के व्यापार से लेकर स्वदेशी के नारे तक का रास्ता दिखाया था। आज बाबा का बाजार जिस रूप में भी खड़ा है उसका ब्लूप्रिंट राजीव दीक्षित ने ही तैयार किया था। लेकिन अचानक से जब 2010 में बाथरूम में संदिग्ध परिस्थितियों में उनकी मौत हो जाती है और उसकी वजह दिल का दौरा पड़ना बताया गया। लेकिन अगले ही दिन जब उनके शव का रंग बदलने लगा तो उनके समर्थकों ने पोर्स्टमार्टम की मांग की लकिन आनन फानन में उनका दाह संस्कार कर दिया गया जिसमें बाबा-रामदेव का बड़ा हाथ था।

इस किताब में बाबा रामदेव से जुड़े और तमाम तरह के खुलासे किये गए है जिसकी सच्चाई सामने आने बाकी है और इससे बाबा रामदेव और उनके सहयोगी बालकृष्ण भी शायद वाकिफ हों।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles