ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• बॉलीवुड के इस सिंगर ने एक बच्ची की मां से रचाई थी शादी, विवादों से रहा हैं नाता।
• वनडे टीम से बाहर चल रहे अश्विन ने विराट कोहली को लेकर दिया बयान, मचा हंगामा।
• नाक के आकार से जानिये इंसान का स्वभाव, जानें क्या कहती हैं आपकी नाक आपके बारे में।
• मोदी सरकार के इस नए स्कीम से कमायें 80 हजार प्रति महीने, ऐसे उठाये फायदा.
• JIO के बाद मुकेश अम्बानी का एक और जबर्दस्त धमाका, मात्र इतने रुपये प्रति लीटर मिलेगा पेट्रोल.
• अमिताभ बच्चन की बेटी के बारे में सामने आई ऐसी सच्चाई, सुनकर होश उड़ जायेंगे आपके।
• दीपिका पादुकोण ने किया खुलासा, 55 साल के इस शख्स के साथ करना चाहती है शादी।
• CM योगी ने 10 साल पहले इस लड़की के सिर पर रखा था हाथ, आज तक निभा रहे हैं साथ।
• गुपचुप तरीके ने जहीर खान ने इस बॉलीवुड एक्ट्रेस से रचाई शादी, तो रोहित शर्मा ने कही ये बात।
• USA में जॉब छोड़ गाँव में बकरियां पाल रहा है ये साइंटिस्ट, कमा रहा है लाखों।
• गुजरात चुनाव में PM मोदी ने चल दिया सबसे बड़ा दांव, दंग रह गई कांग्रेस पार्टी।
• गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थी कुछ ऐसी।
• धोनी ने किया खुलासा, 2007 में इसलिए बनाया गया था टीम इंडिया का कप्तान।
• शादी की पहली रात दूल्हे ने होटल में पत्नी के साथ किया ऐसा काम, वह हो गई बेहोश।
• 6 साल के लव अफेयर का ऐसे हुआ अंत, BF ने लड़की से रखी थी ऐसी डिमांड।

कार्तिक महीने में भूल कर भी न करें ये काम, घर-परिवार हो सकता है बर्बाद।

माना जाता है कि कार्तिक महीने में हर नदी का जल गंगा के समान पवित्र हो जाता है, अगर इस महीने नदी में डुबकी लगाते हैं तो…

नई दिल्ली, 11 अक्टूबर :कार्तिक महीना व्यक्ति के अच्छी सेहत, उन्नति और मनोकामना की पूर्ति के लिए होता है। कार्तिक महीने का नाम दामोदर मास से भी मिलता है। माना जाता है कि इस महीने में हर नदी का जल गंगा नदी के समान पवित्र हो जाता है। इस महीने में अगर नदी में डुबकी लगाते हैं तो उसे कुंभ में स्नान के जैसा फल मिलता है। कार्तिक मास की महिमा का बखान स्कंद पुराण, नारद पुराण, पद्म पुराण जैसे ग्रंथों में मिलता है।

Advertisement

इसी महीने में प्रबोधनी एकादशी होती है जैसे सतयुग के समान कोई वेद नहीं है, वेदों के सामान कोई शास्त्र नहीं है, गंगा के समान कोई तीर्थ नहीं है और कार्तिक के समान कोई दूसरा महीना नहीं है। इस महीने में विधि-विधान से काम करने से सभी मनोकामनायें पूर्ण होती है। साथ ही कुछ ऐसे भी काम हैं जो नहीं करने चाहिए। तो चलिए जानते हैं उन कामों के बारे में जो इस महीने में नहीं करना चाहिए।

तेल सिर्फ एक दिन ही लगायें :-पुराणों में माना जाता है कि इस महीने में तेल लगाना वर्जित है। इस महीने में सिर्फ एक बार नरक चतुर्दशी यानी कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी के दिन ही शरीर पर तेल लगाना चाहिए।

दाल न खायें :-कार्तिक महीने में कोई भी दाल जैसे -मूंग, मसूर, उड़द, चना, मटर, राई आदि नहीं खाना चाहिए। इस महीने हल्का भोजन करना चाहिए, साथ ही गरिष्ठ भोजन से परहेज करें।

ब्रह्मचर्य का पालन करें :-ब्रह्मचर्य का मतलब है कि किसी भी आचरण में नहीं पढ़ना चाहिए। केवल भगवान की भक्ति करनी चाहिए। कार्तिक मास में ब्रह्मचर्य का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण है। अगर आप इसका सही पालन नहीं करते हैं तो पति-पत्नी को दोष लगता है। साथ ही अशुभ फल मिलता है।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles