ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• लगातार हो रही आलोचना पर धोनी ने तोड़ी चुप्पी, विरोधियों को दिया ये करारा जवाब।
• इस IPS ने काटा था धोनी का चालान, अब इस काम के लिए मिलेगा पुरस्कार।
• मध्य प्रदेश में भाजपा को लगा तगड़ा झटका, चित्रकूट विधानसभा सीट पर कांग्रेस का कब्जा।
• यहां लगा था वो शीशा, जहां से अलाउद्दीन खिलजी ने पद्मावती को देखा था।
• गोरा होने के लिए चेहरे पर कभी न लगाएं नींबू और ये 5 चीजें, बढ़ेगा सांवलापन।
• पिता की ख़ुशी की लिए बेटियों ने सड़क पर खुलेआम किया ये काम, लोग बोले …!
• राहुल गांधी ने छीन ली PM मोदी की सबसे बड़ी ताकत, गुजरात में अब कांग्रेस की जीत पक्की।
• ग्रेट खली ने किया खुलासा, इस एक वजह से अब नहीं जाते हैं WWE में लड़ने।
• चुनाव से पहले ही हार गई भाजपा, इस सबसे बड़ी सीट पर हुआ कांग्रेस का कब्जा।
• जानिये, आखिर क्यों किन्नरों के घर पर या उनके हाथों से बना खाना कर देना चाहिए नजरअंदाज।
• 70 साल के इस बुजुर्ग ने यंग लड़की से की शादी, जानिये क्या है पूरी सच्चाई।
• शादी से मुकर गए लड़के वाले तो घर पहुंच गई लड़की, कहा -शादी तो इसी से करुँगी।
• रिलायंस Jio के 399 के रिचार्ज पर रिटर्न होने 300 रूपये, बस फॉलो करने ये स्टेप।
• जानिये, आखिर सड़कों के बीच क्यों खींची जाती है सफ़ेद और पीले रंग की लाइनें।
• लालू यादव ने किया ऐलान, अगले बिहार चुनाव में ये होंगे राजद के CM कैंडिडेट।

कार्तिक महीने में भूल कर भी न करें ये काम, घर-परिवार हो सकता है बर्बाद।

माना जाता है कि कार्तिक महीने में हर नदी का जल गंगा के समान पवित्र हो जाता है, अगर इस महीने नदी में डुबकी लगाते हैं तो…

नई दिल्ली, 11 अक्टूबर :कार्तिक महीना व्यक्ति के अच्छी सेहत, उन्नति और मनोकामना की पूर्ति के लिए होता है। कार्तिक महीने का नाम दामोदर मास से भी मिलता है। माना जाता है कि इस महीने में हर नदी का जल गंगा नदी के समान पवित्र हो जाता है। इस महीने में अगर नदी में डुबकी लगाते हैं तो उसे कुंभ में स्नान के जैसा फल मिलता है। कार्तिक मास की महिमा का बखान स्कंद पुराण, नारद पुराण, पद्म पुराण जैसे ग्रंथों में मिलता है।

Advertisement

इसी महीने में प्रबोधनी एकादशी होती है जैसे सतयुग के समान कोई वेद नहीं है, वेदों के सामान कोई शास्त्र नहीं है, गंगा के समान कोई तीर्थ नहीं है और कार्तिक के समान कोई दूसरा महीना नहीं है। इस महीने में विधि-विधान से काम करने से सभी मनोकामनायें पूर्ण होती है। साथ ही कुछ ऐसे भी काम हैं जो नहीं करने चाहिए। तो चलिए जानते हैं उन कामों के बारे में जो इस महीने में नहीं करना चाहिए।

तेल सिर्फ एक दिन ही लगायें :-पुराणों में माना जाता है कि इस महीने में तेल लगाना वर्जित है। इस महीने में सिर्फ एक बार नरक चतुर्दशी यानी कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी के दिन ही शरीर पर तेल लगाना चाहिए।

दाल न खायें :-कार्तिक महीने में कोई भी दाल जैसे -मूंग, मसूर, उड़द, चना, मटर, राई आदि नहीं खाना चाहिए। इस महीने हल्का भोजन करना चाहिए, साथ ही गरिष्ठ भोजन से परहेज करें।

ब्रह्मचर्य का पालन करें :-ब्रह्मचर्य का मतलब है कि किसी भी आचरण में नहीं पढ़ना चाहिए। केवल भगवान की भक्ति करनी चाहिए। कार्तिक मास में ब्रह्मचर्य का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण है। अगर आप इसका सही पालन नहीं करते हैं तो पति-पत्नी को दोष लगता है। साथ ही अशुभ फल मिलता है।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles