ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• रोज खाएं पानी में भीगी हुई मूंगफली के कुछ दाने, होंगे ये 7 फायदे।
• इंटरव्यू के दौरान पूछा गया अटपटा सवाल, जिसका लड़की ने दिया ये करारा जवाब।
• प्रियंका चोपड़ा ने कैमरे के सामने इस काम को कहा था ना, भुगतना पड़ा था ये खामियाजा।
• ये है राष्ट्रपति की बेटी, अब इस कारण से छोड़नी पड़ रही है एयरहोस्टेस की जॉब।
• जब शूटिंग के दौरान प्रेग्नेंट हो गई थी ये एक्ट्रेस, घर बैठने के बजाये किया कुछ ऐसा।
• कमजोर शरीर में जान डाल देगा ये ड्राई फ्रूट, पोषण से है भरपूर।
• चाय बेचकर बना करोड़पति, कभी इस वजह से रिजेक्ट कर देते थे लड़की वाले।
• PM मोदी को सुनानी हो फ़रियाद या करना चाहते है सीधे संपर्क, इन 8 तरीकों से हो सकती है बात।
• टीम इंडिया के इस गेंदबाज ने किया खुलासा, टीम में जगह न मिलने पर करना चाहता था सुसाइड।
• दौड़ के बाद हुई छात्र की मौत, अंतिम संस्कार के दौरान खुली आंख तो हुआ ये सब।
• पति नहीं करता था टच, पत्नी ने सुसाइड नोट में लिखी ये रुला देने वाली बात।
• लगातार हो रही आलोचना पर धोनी ने तोड़ी चुप्पी, विरोधियों को दिया ये करारा जवाब।
• इस IPS ने काटा था धोनी का चालान, अब इस काम के लिए मिलेगा पुरस्कार।
• मध्य प्रदेश में भाजपा को लगा तगड़ा झटका, चित्रकूट विधानसभा सीट पर कांग्रेस का कब्जा।
• यहां लगा था वो शीशा, जहां से अलाउद्दीन खिलजी ने पद्मावती को देखा था।

एक किन्नर हर साल करता है शादी और अंतिम संस्कार, वजह चौंकाने वाली है।

किन्नर

नई दिल्ली(ब्यूरो) : जिस तरह भगवान ने इस धरती पर स्त्री और पुरुष बनाया है उसी तरह हमलोग जैसे ही एक और रचना है को न तो स्त्री और न ही पुरुष वर्ग में आते है जिसे हमारे साज में किन्नर के नाम से जाना जाता है। वैसे तो हमारे समाज में अभी तक स्त्री के अधिकारों और उसके अस्तित्व को लेकर लड़ाई जारी है तो ऐसे  समाज में किन्नर को एक मानव होने के अधिकार और सम्मानपूर्वक जगह देने की बात करनी बेईमानी होगी। लेकिन फिर भी देर-सवेर इन लोगो ने अपने अधिकारों के लिए आवाज उठानी बुलंद कर दी है जिससे सरकार का ध्यान भी इस तरफ गया है और इसी के चलते अब तमाम सरकारी भर्तियों में लिंग के वर्ग में इन्हे भी स्थान दिया गया है।

आपको बता दें की किन्नर समुदाय की दुनिया हमारे समाज के सभी धर्मो से अलग होता है जो बहुत काम लोग ही जानते है। तो आइये जानते है इस समुदाय से जुड़े कुछ दिलचस्प पहलु जैसे क्या वो भी हमलोग की तरह शादी करते है ?, उनका अंतिम संस्कार कैसे होता है, किस देवता को पूजते है इत्यादि। आपको जानकर आश्चर्य होगा की ये लोग  साल में एक एक बार शादी करता है और इससे भी हैरानी की बात ये है की ये शादी वे अपने देवता अरावन से करते है जिन्हे वे नित्य पूजा करते है। जब कोई किन्नर शादी करते है तो जहाँ वो रहते है उस पुरे एरिया में भगवान अरावन की मूर्ति को घुमाते है और अगले दिन श्रृंगार उतार कर सफेद कपडे पहनकर विधवा की तरह शोक मनाते है। फिर किन्नर बहुचरा माता की पूजा कर उनसे माफी मांगते हैं और दुआ मांगते हैं कि अगले जन्म में उन्हें किन्नर की तरह जन्म ना लेना पड़े।

Advertisement

आपको बता दें की एक किन्नर की जब मौत हो जाती है तो सभी धर्मो के विपरीत उनकी शवयात्रा को रात में निकाला जाता है जो बहुत ही गुप्त रखा जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है क्यूंकि इन लोगों का मानना है की अगर इस पर किसी गैर-किन्नर की नजर पड़ जाती है तो मरने वाले का जन्म फिर से किन्नर में ही होता है। सबसे आश्चर्य इस बात पर होती है की किसी किन्नर की मरने पर ये लोग ख़ुशी मानते है और उसके शव को सारे किन्नर चप्पल से पीटते है और एक सप्ताह तक सारे समुदाय के लोग खाना नहीं खाते है। शव को चप्पल से पीटने की पीछे ये मानना है की इस जन्म किये गए सारे पापों का प्रायश्चित हो जाता है।

वैसे तो इस समुदाय के अधिकांश रीती-रिवाज हिन्दू धर्म से मेल खाते है लेकिन ये शव को जलाते नहीं है बल्कि मुस्लिम रीती-रिवाज के अनुसार दफनाते है। इनके समुदाय के जो गुरु होते है वो भी मुस्लिम ही होते है। किन्नरों का उल्लेख हमारे इतिहास में भी है जिसमें एक किन्नर का जंग लड़ने का भी इतिहास है जिनका नाम मालिक काफूर था। इन्होने दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी के लिए दक्कन में जंग लड़ी थी जिसमें जीत हासिल की थी।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles