ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• लगातार हो रही आलोचना पर धोनी ने तोड़ी चुप्पी, विरोधियों को दिया ये करारा जवाब।
• इस IPS ने काटा था धोनी का चालान, अब इस काम के लिए मिलेगा पुरस्कार।
• मध्य प्रदेश में भाजपा को लगा तगड़ा झटका, चित्रकूट विधानसभा सीट पर कांग्रेस का कब्जा।
• यहां लगा था वो शीशा, जहां से अलाउद्दीन खिलजी ने पद्मावती को देखा था।
• गोरा होने के लिए चेहरे पर कभी न लगाएं नींबू और ये 5 चीजें, बढ़ेगा सांवलापन।
• पिता की ख़ुशी की लिए बेटियों ने सड़क पर खुलेआम किया ये काम, लोग बोले …!
• राहुल गांधी ने छीन ली PM मोदी की सबसे बड़ी ताकत, गुजरात में अब कांग्रेस की जीत पक्की।
• ग्रेट खली ने किया खुलासा, इस एक वजह से अब नहीं जाते हैं WWE में लड़ने।
• चुनाव से पहले ही हार गई भाजपा, इस सबसे बड़ी सीट पर हुआ कांग्रेस का कब्जा।
• जानिये, आखिर क्यों किन्नरों के घर पर या उनके हाथों से बना खाना कर देना चाहिए नजरअंदाज।
• 70 साल के इस बुजुर्ग ने यंग लड़की से की शादी, जानिये क्या है पूरी सच्चाई।
• शादी से मुकर गए लड़के वाले तो घर पहुंच गई लड़की, कहा -शादी तो इसी से करुँगी।
• रिलायंस Jio के 399 के रिचार्ज पर रिटर्न होने 300 रूपये, बस फॉलो करने ये स्टेप।
• जानिये, आखिर सड़कों के बीच क्यों खींची जाती है सफ़ेद और पीले रंग की लाइनें।
• लालू यादव ने किया ऐलान, अगले बिहार चुनाव में ये होंगे राजद के CM कैंडिडेट।

AAP में विवाद नहीं, एक ड्रामा ख़त्म हुआ, केजरीवाल और विश्वास ने लिखी थी स्क्रिप्ट !

आप

अचानक ही कुमार विश्वास मीडिया में आप के खिलाफ बोलते नजर आने लगे। उनकी नाराजगी को शुरुआती दौर में शांत नहीं कराया गया।

नई दिल्ली(ब्यूरो), 5 मई : 5 साल पूर्व भारतीय राजनीति में आम आदमी पार्टी के उदय को राजनीतिक बदलाव के रूप में देख गया। जब आप पार्टी आकर ले रही थी, तब इसे विकल्प की राजनीति की नई शुरुआत माना गया। भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष के ताप में निखरी नई तरह की राजनीति। जिस बदलाव का भारत और भारतीय को इंतजार था। जनमानस में एक जोश पैदा हुआ, उम्मीद पनपी, पर जैसे जैसे सरकार की उम्र बढ़ी वैसे वैसे दिल्ली सरकार, उसके मंत्री और विधायक एक एक कर लोगों की उम्मीद और विश्वास तोड़ते हुए मीडिया में दिखने लगे।

Advertisement

हर वो बात जो पार्टी को लोगों के बीच ले गई पार्टी धीरे-धीरे अपने नए तर्कों के साथ उसे खुद ही नकारती नजर आई। चाहे वह गाड़ी बंगला की बात हो, विधायकों के लाखों वेतन की बात हो, महिला सुरक्षा की बात हो। पार्टी अपने बनाये उद्देश्यों से खुद ही भटकती नजर आई। आप की तब भी चर्चा हुई जब इसका उदय हुआ था। आप की आज भी चर्चा हो रही। लेकिन दोनों चर्चाओं में जमीन आसमान का अंतर है। अभी आप के सामने दो तरह के संकट नजर आ रहे। एक लगातार चुनावी हार से उपजा है, तो दूसरा जहां उसके अपने ही उस पर हावी हो रहे।

अपेक्षाएं ज्यादा हो तो निराशाएं भी ज्यादा उपजती है। आप के अंदरुनी मतभेद इसी निराशा की उपज है। लगातार हार ने पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल अर्श से फर्श पर लाकर रख दिया। जो कार्यकर्ता खुद को बदलाव का सिपाही समझ रहे थे। वो खुद को ठगा हुआ महसूस करने लगे। उनकी बुझी चेतना को हवा देने के लिए पार्टी में मंथन शुरु हुआ। ऐसे में सामने आई कुमार विश्वास की नाराजगी। पार्टी के थिंक टैंक ने कार्यकर्ताओं के जोश को वापस जगाने के लिए कुमार विश्वास की नाराजगी को जरिया बनाया।

सूत्रों के अनुसार जिन विधायकों से सिसोदिया को शिकायत थी उनमें से अमानुतल्लाह खान भी शामिल थे। जिसकी शिकायत वक्फ बोर्ड से भी मिल रही थी। अमानुतल्लाह पर करवाई करने से सिसोदिया और केजरीवाल के संकोच को दूर किया अमानुतल्लाह के बयान से विश्वास की उपजी नाराजगी।

अमानुतल्लाह पर करवाई की गई। विश्वास की नाराजगी को शांत कराया गया। इसी के साथ विश्वास की घर वापसी हो गई। और हो गया आप पार्टी की एक और नाटक का पटाक्षेप।

अन्य सटीक और विश्वशनीय जानकारी के लिए हमारा पेज लाइक करें :-
Loading...

Related Articles